Thursday, March 1, 2012

देश बेच दो,

देश बेच दो,
ईमान बेच दो,
धर्म और भगवान बेच दो,
इंसानियत बेफालतु की बात,
जो करे वह इनसान बेच दो,
हवस दौलत की,
बेपनाह शोहरत की,
मिलें जिस कीमत,
हासिल करो, अदा कर दोगे,
बस....... 
देश बेच दो,
ईमान बेच दो,
सीखो खद्दर के नकाब पोशो से,
पेशावर नेताओं से,
धोखाधड़ी मुलमंत्र,
भाड़ में जाए प्रजातंत्र,
सत्ता जिनका हथियार,
नैतिकता पर धिक्कार,
करे तानाशाही,
भाये जिन्हें तबाही,
ऐसा चरित्र करो स्वीकार,
तब कहें की हार,
तो पहले.....
देश बेच दो,
ईमान बेच दो,
धर्म और भगवान बेच दो,
इंसानियत बेफालतु की बात,
जो करे वह इनसान बेच दो,

No comments:

Post a Comment