Thursday, May 30, 2013

हमसफर तुझे पाकर


मेरे कदमो ने चुनी कुछ राहे
वजूद तब हो जब तू भी आए
हमसफर तुझे पाकर मंजिले मिल जायेंगी
दूरियां कितनी भी हो मुश्किलें कट जायेंगी
वक्त के साथ मैंने कुछ लम्हे चुराये
हासिल तब जब तू साथ वक्त बिताये
तेरा साथ हो तो सदिया भी कट जायेंगी
वक्त के हाथ से तन्हाईयाँ फिसल जायेंगी
कल कि तसवीर के खाखे है बनाए
वह् तस्वीर हो मुकम्मल तू जो आए
किस्मत की रोशन लकीर, हथेलियां पा जायेंगी
एक तेरे आने से किस्मत बदल जायेगी
कितने ही ख्वाब आँखों में सजाये
मेरी आंखो में बसी तेरी ही सदाये
तुम्हारी बंद पलके जब ख्वाब असल कर जायेंगी
तब खुली आँखें भी हँसी सपनों को जी पायेंगी
 इंद्रधनुश ने जो सात रंग है बिखराये
उनमे अगर तेरा रंग भी मिल जाए
 तो बेरंग सी इस जिंदगी में रंगीनियां छा जायेगी
जिंदगी कि हर सुबह रात सज सँवर हो जायेगी
 तेरा साथ हो तो सदिया भी कट जायेंगी
  1. ...

No comments:

Post a Comment