Thursday, May 30, 2013

माँ तुझे कोटी कोटी प्रणाम


हे माँ तुझे कोटी कोटी प्रणाम, हर दिवस करु मै बस तेरे नाम
मात् दिवस प्रतिदिन इन रगो में बहता, एक दिवस भी नहीं विराम
 क्युकि………………
 नौ माह कि अपार प्रसव पीड़ा , और मन भीतर जीवन देने का बीड़ा
 माँ हर दर्द सहेज कर भी, तुने ही मुझमे साँसें भर दी
अपने जीवन का प्रथम अध्याय, हम तेरे ममतामयी शब्दों से पाये
माँ विधयालय की तू प्रथम चरण, तेरे स्नेह से हुआ पालन पोषण
 मेरी खुशियों में जो ढूँढे ख़ुशियाँ, तुने जीवन पर्यंत बस दिया दिया
 माँ मुझमे तेरे ही अनमोल संस्कार, जो कर रहे आज भी परम उद्धार
 ईश्वर का जीवंत स्वरूप है तुझमें, क्यूँकि तुझसे ही साँसें है मुझमे
 माँ तेरी आँखों में मै पला बढ़ा, हे जीवन दायनी मै तेरा कृतार्थ बड़ा
 माँ उपरांत नौ माह कि प्रसव पीड़ा, से उपज यह अलख संसार बना
 माँ तेरी ममता का कोइ मोल नहीं, ममता के ऋण का जग में तोड़ नही
 क्युकि………………
 नौ माह कि अपार प्रसव पीड़ा , और मन भीतर जीवन देने का बीड़ा
 जीवन मृत्यु के मध्य उपजती, माँ की आँखों में संतान है बसती
हे माँ तुझे कोटी कोटी प्रणाम, हर दिवस करु मै बस तेरे नाम
मात् दिवस प्रतिदिन इन रगो में बहता, एक दिवस भी नहीं विराम………….
 Happy Mother’s day (365Day)
  1. ...

No comments:

Post a Comment