Thursday, May 30, 2013

दामनी का केस

दामनी का केस कितना लम्बा चलेगा
 और ................
क्या फैसला आयेगा सब राम भरोसे है
क्यूँकि........
 तमाम दिन इंतज़ार में बीते
 पर इम्तहान बरबादी था
 अपने हक में होगा फैसला
 सोचना ही जल्दबाजी था
 निगाहे लाख टिका लो उम्मीद पर
 पर मामला बुनयादी था
 चलती सियासत की हरदम
 फिक्र किसे कब आबादी का
हर आवाज़ दब जाती समय के साथ
 अब आदत हुयीं नाकामी का

No comments:

Post a Comment