Saturday, December 29, 2012

मन उदास सा हुआ तुम्हारी याद में


  1. मन उदास सा हुआ तुम्हारी याद में
    करवटें बदलते रहे हम सारी रात में
    जो तुझमें वह् कहा किसी बात में
    तुम ही तुम मेरे अहले जज़्बात में
    यह दूरियां दिल को समझाना मुश्किल
    दिल के अरमान मेरे दिल से मिल
    ... तेरे एहसास से धड़कता है यह दिल
    तू ही आगाज ए सनम तू ही मंजिल
    भटकते मन का चैन तेरे पास में
    मिलेगा सुकून मुझे तेरे ही साथ में
    मन उदास सा हुआ तुम्हारी याद में
    करवटें बदलते रहे हम सारी रात में

No comments:

Post a Comment