Monday, August 13, 2012

हारने में मजा


  1. सोचो किसी को हारने में
    कब मजा आता है
    पर यह दिल जब किसी के
    हवाले हो जाता है
    तो दिल के हाथों
    दिल हारने में मजा आता है
    ...
    हार का खुशनुमा वक्त
    जब जिंदगी में आता है
    हाथों में हाथ लिए
    दोनों हार का जश्न मनाते है
    इस मुहब्बत में तो
    हारने वाले भी जीत जाते है
    प्यार की हर चाल
    जिंदगी को लुभाती है
    यही वह बाज़ी है जो
    हार के भी जीती जाती है
    हर खुशी वही जहां मुहब्बत आबाद
    ऐ मुहब्बत तू जिंदाबाद
    जिंदाबाद जिंदाबाद जिंदाबाद.....

No comments:

Post a Comment