Wednesday, May 16, 2012

आज कोई बात मत कहो


आज कोई बात मत कहो
बस मेरे संग साथ रहो
मन के गुबार निकल जाते है
जब हम तुम मिल जाते है
दर्द था पर अब नही
तुम तुम हो सब नही
तुमसे ही है प्रितम ऐह्सास
हर खुशी प्रिय तुम्हारे साथ
तुम मानोभाव का संगम
तुमसे ही सुखद समागम
तुम बिन अधुरे मेरे दिन रात
तुमसे सम्पुर्ण मेरी हर बात
कोई पल न जब तेरी याद न हो
मेरे पागल मन तेरा उन्माद न हो
वह पल न हो जब तेरा साथ न हो
विचार क्या जिसमे तेरी बात न हो
तुम दिल की आँखों से कहो
मै सुनू और तुम सुनाती रहो
आज कोई बात मत कहो
बस मेरे संग साथ रहो

No comments:

Post a Comment